7 chakra

the.sanskrit Instagram

शरीर के चक्र
शरीर में मूल रूप से 7 चक्र होते हैं. इन्हें सृष्टि की समस्त शक्तियों का केंद्र माना जाता है. आइए जानते हैं इन चक्रों के बारे में.
आज्ञा चक्र
ऊँ आज्ञाचक्राब्जनिलयायै नमः
Om agya-chakraa-bahja-nilayāyei namaha
– दोनों भौहों के बीच स्थित चक्र को आज्ञा चक्र कहा जाता है.
– यह दो पंखुड़ियों वाला है , एक पंखुड़ी काले रंग की और दूसरी पंखुड़ी सफ़ेद रंग की है.
– सफ़ेद पंखुड़ी ईश्वर की ओर जाने का प्रतीक है , और काली पंखुड़ियों का अर्थ संसारिकता की ओर जाने का है .
– इस चक्र के दो अक्षर और दो बीज मंत्र हैं – ह और क्ष
– इस चक्र का कोई ध्यान मंत्र नहीं है क्योंकि यह पांच तत्वों और मन से ऊपर होता है.
– इस चक्र पर मंत्र का आघात करने से शरीर के सारे चक्र नियंत्रित होते हैं.
– इसी चक्र पर इडा,पिंगला और सुषुम्ना आकार खुल जाती हैं और मन मुक्त अवस्था में पंहुँच जाता है.
– The chakra situated between the two eyebrows is called the command cycle.
– It has two petals, one petal black and the other petal white.
– White petals symbolize the direction of God, and black petals mean towards worldliness.
– There are two letters and two bija mantras of this cycle – H and K
– This chakra has no meditation mantra because it is above the five elements and the mind.
– By chanting the mantra on this chakra, all the chakras of the body are controlled.
– Ida, Pingala and Sushumna shapes open on this cycle and the mind reaches its free state.
#colture #sanskrit #omnamahshivaya#bholenath #harharmahadev  #bholebaba#aghori #shambhu  #shiva #india #hindu #hinduism #ancient #Indiantemple #mythology #ancientindia #chakara #ayurveda #yoga #ayurvedalifestyle #health #ayurvedalife #ayurvedic #ayurvedicmedicine #wellness #healthylifestyle #ayurvedaeveryday #natural #meditation

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s